Sunday, September 13, 2020

धर्म क्या है ? | Dharm kya hai ?





 धर्म क्या है?


धर्म एक संस्कृत शब्द है, इसका शाब्दिक अर्थ है "धारण करने योग्य", अर्थात् सभी गुण जो मानवता के मूल सिद्धान्तों के अनुकूल धारण करने योग्य हों, वो धर्म हैं।

परंतु, धर्म का अर्थ जितना सरल है इसकी विवेचना उतनी ही जटिल।

अब प्रश्न यह उठता है कि मानवता के सिद्धांतों के अनुकूल धारण करने योग्य गुण क्या हैं? इस प्रश्न का उत्तर हमें वेदों में मिलता है, जिनके अनुसार सत्य, अहिंसा, शांति, न्याय इत्यादि मानवता के प्रमुख गुण है।

धर्म की संकल्पना इतनी व्यापक है कि इसका कोई भी पर्यायवाची हमें किसी दूसरी भाषा में देखने को नहीं मिलता। इंग्लिश शब्द रेलीजन अर्थात आस्था एवं विश्वास, हिंदी शब्द सम्प्रदाय और उर्दू शब्द मज़हब अर्थात् एक प्रकार की परंपरा और विचारधारा को मानने वाला समुदाय। शाब्दिक विवशताओं के चलते प्रयोग में तो हैं, परंतु यह सभी धर्म को परिभाषित करने में असमर्थ हैं।

साधारण धारणा के विपरीत हिंदू, सिख, मुस्लिम, ईसाई सभी धर्म न होकर केवल सम्प्रदाय हैं, क्योंकि इनका स्रोत वेदों से पृथक एक पारंपरिक विचारधारा है। एक अपवाद सनातन धर्म है जिसका उद्गम वेद और उपनिषद एवं लक्ष्य जन कल्याण है, अतः इसे धर्म कहना असत्य नहीं है।


वेदों एवं पुराणों में धर्म का मानवीय चित्रण भी मिलता है जो धर्म को परिभाषित करने में सहायक है, जिसके अनुसार धर्म और अधर्म दोनों ही ब्रह्मा के मानस पुत्र हैं।

अधर्म की पत्नी हिंसा हैं और नर्क एवं भय अधर्म के प्रपौत्र हैं।

धर्म की पत्नी अहिंसा हैं और विष्णु धर्म के पुत्र हैं। इसी कारण, श्रीमद्भगवद्गीता में श्री कृष्ण कहते हैं:

"यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत।
अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम्॥

अर्थात् जब-जब धर्म की हानि होती है और अधर्म आगे बढ़ता है, तब मैं धर्म की रक्षा हेतु अवतार लेता हूँ।

सनातन धर्म में पुरुषार्थ के चार स्तंभ बताए गए हैं, धर्म, काम, अर्थ एवं मोक्ष, जिनमें धर्म श्रेष्ठ है। सनातन में धर्म के दस लक्षणों का भी उल्लेख मिलता है जिनमें सत्य, क्षमा, दम, विद्या, अक्रोध आदि प्रमुख हैं।

धर्म विस्तृत है परंतु इसका मार्ग सदा शांति, अहिंसा और उन्नति का मार्ग एवं लक्ष्य जन कल्याण रहा है।

जो सम्प्रदाय को धर्म कहता है वह ज्ञानी है और जो धर्म को विध्वंश का कारक मानता है वो महामूर्ख है।


आज के परिप्रेक्ष्य में देखें, तो ज्ञान के अभाव में धर्म-धर्म न रहकर कुछ अति महत्वकांक्षी विचारधाराओं की लक्ष्य पूर्ति का साधन मात्र रह गया है।

विभिन्न संप्रदाय आत्मकेंद्रित लोलुपताओं के चलते, अनीति का प्रयोग हिंसा, द्वेष, और विघटन के प्रसार हेतु कर रहें हैं और इसे धर्म का मार्ग कह अपनें समुदायों को भ्रमित भी कर रहें हैं।

विद्या के अभाव में जन-साधारण इस धार्मिक एवं राजनीतिक षड्यंत्र को समझने में स्वयं को असमर्थ पा रहा है। भारत में, अज्ञानता के रहते सम्प्रदायिक महत्वकांक्षाओं को धर्म मान प्रतिवर्ष हज़ारों निर्दोष साम्प्रदायिक दंगों की भेंट चढ़ जाते हैं।

इस सृष्टि को आवश्यकता है ज्ञान की, धर्म की, सम्प्रदाय की नहीं। धर्म कहता है, जो अपने अनुकूल न हो ऐसा व्यवहार दूसरों से नहीं करना चाहिए। सम्प्रदाय इसके विपरीत अपनी महत्वकांक्षाओं की पूर्ति हेतु दूसरों का अहित करने में भी संकोच नहीं करता।

बीसवीं शताब्दी में भी, हम उन्हीं पुरानी साम्प्रदायिक कुरीतियों और मान्यताओं में, उलझे हुए हैं। आज मानव धर्म का नाश कर, साम्प्रदायिक ईश्वर की रक्षा हेतु तत्पर है।

श्री कृष्ण महाभारत में कहते हैं:

धर्म एव हतो हन्ति धर्मो रक्षति रक्षितः।

अर्थात् जो धर्म को मारता है, धर्म उसका नाश कर देता है और जो धर्म की रक्षा करता है धर्म उसकी रक्षा करता है।

जो धर्म नहीं है वो अधर्म है, शाश्वत धर्म के लक्षण अहिंसा, विद्या, क्षमा और शांति हैं। सांप्रदायिक स्वार्थ हेतु हिंसा, क्रोध, असत्य और अमैत्री अधर्म है।

धर्म का यह क्षय विश्व प्रगति में रोधक है, जो उन्नति जन-कल्याण हेतु न हो वो अवनति है।

अधिकांश जन-साधारण, अज्ञानता एवं स्वार्थ के वशीभूत हो धर्म की हो रही हानि के लिए उत्तरदायी हैं। शेष जो ज्ञानी हैं परंतु मौन हैं, उनका अपराध और भीषण है। 

श्रीमद्भगवद्गीता में श्री कृष्ण अर्जुन से कहते हैं:

परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम्।
धर्मसंस्थापनार्थाय संभवामि युगे-युगे

अर्थात्  गुणीजन की रक्षा के लिये और पाप कर्म करनेवाले दुष्टों का नाश करने के लिये एवं धर्म की स्थापना के लिये मैं युग-युग में अवतार लेता हूँ।

स्मरण रहे, ईश्वर का एक रूप प्रकर्ति भी है और उसका कोप कितना भयावह होता है, इसका अनुमान लगाना कठिन नहीं है। फैलती महामारी, ग्लोबल-वार्मिंग, निरंतर आते भूकंप इत्यादि, प्रकर्ति के क्रोध का जीवंत स्वरूप हैं। धर्म से विमुख हो जो व्यक्ति सांप्रदायिक आस्थाओं का चयन करता है प्रकर्ति उसका विनाश कर देती है।

मेरे विचार में, हमें सदा आशावादी रहना चाहिए, यही जीव आधार है, आरंभ कहीं से भी हो सकता है, आवश्यकता है तो महत्वकांशाओं और स्वार्थ से ऊपर उठ धर्म का उद्देश्य समझने की और उसका पालन करने की।

अंत में प्रश्न वही है, धर्म क्या है? मेरे अनुसार उत्तर भी सरल है, जो गुण जन कल्याण हेतु धारण करने योग्य हो, धर्म है...



--विव
(विवेक शुक्ला)

3 comments:

  1. ยินดีต้อนรับสู่ UPLAY365.COM เว็บพนันออนไลน์ All In One ที่รวมเว็บพนันออนไลน์อันดับ 1 ไว้ที่เดียวกันมากที่สุด ไม่ว่าจะเป็น เกมส์ไพ่ ที่เป็นที่นิยม เช่นบาคาร่า แบล็คแจ็ค เสือมังกร หรือจะเป็น รูเล็ต สล็อตออนไลน์ คีโน โป๊กเกอร์ forex ไก่ชน เกมส์ยิงปลา แทงบอล แทงบาส เทนนิส ESPORT แทงมวยไทย และอื่นๆอีกมากมาย พร้อมเทคโนโลยีชั้นนำจากผู้ผลิตซอฟต์แวร์เกมส์ระดับโลก ความน่าเชื่อถือได้มาเป็นอันดับ 1 สามารถเล่นได้ทั้งบนคอมพิวเตอร์ , มือถือ ระบบ android และ IOS *คาสิโนออนไลน์ : สามารถเลือกเล่นกับคาสิโนชั้นนำดังนี้ SexyBaccarat, AG Casino, GOLD Casino, SA Casino, W88 Casino, D88 Casino, WM Casino, GD Casino เป็นต้น *แทงบอล : U กีฬา (U SPORTS) , S กีฬา (S SPORTS) มั่นใจได้เลยว่า อัตราการจ่ายค่าน้ำดีที่สุดต้อง uplay365 เหมาะสำหรับทั้งนักพนันมืออาชีพและ มือใหม่ โดยทางเรามีพนักงานคอยสอนเรื่องการแทงบอลเบื้องต้น แทงง่าย อัตราจ่ายดี *สล็อตออนไลน์ ,เกมส์ยิงปลา : JOKER123,PLAYTECH และอื่นๆ อีกมากมาย ทั้งหมดนี้ สามารถเล่นได้ใน 1 ยูสเซอร์เท่านั้น สนใจสมัครสมาชิกรับเครดิตฟรี สามารถสมัครได้ตนเองที่หน้าเว็บ หรือติดต่อ Callcenter โดย ทางเรามีพนักงานไว้บริการและแก้ปัญหา ตลอด 24 ชั่วโมง สอบถามข้อมูลเพิ่มเติมได้กับแอดมินได้ตลอด 24 ชม.ค่ะ


    SA Casino
    SA

    ReplyDelete
  2. ยินดีต้อนรับสู่ UPLAY365.COM เว็บพนันออนไลน์ All In One ที่รวมเว็บพนันออนไลน์อันดับ 1 ไว้ที่เดียวกันมากที่สุด ไม่ว่าจะเป็น เกมส์ไพ่ ที่เป็นที่นิยม เช่นบาคาร่า แบล็คแจ็ค เสือมังกร หรือจะเป็น รูเล็ต สล็อตออนไลน์ คีโน โป๊กเกอร์ forex ไก่ชน เกมส์ยิงปลา แทงบอล แทงบาส เทนนิส ESPORT แทงมวยไทย และอื่นๆอีกมากมาย พร้อมเทคโนโลยีชั้นนำจากผู้ผลิตซอฟต์แวร์เกมส์ระดับโลก ความน่าเชื่อถือได้มาเป็นอันดับ 1 สามารถเล่นได้ทั้งบนคอมพิวเตอร์ , มือถือ ระบบ android และ IOS *คาสิโนออนไลน์ : สามารถเลือกเล่นกับคาสิโนชั้นนำดังนี้ SexyBaccarat, AG Casino, GOLD Casino, SA Casino, W88 Casino, D88 Casino, WM Casino, GD Casino เป็นต้น *แทงบอล : U กีฬา (U SPORTS) , S กีฬา (S SPORTS) มั่นใจได้เลยว่า อัตราการจ่ายค่าน้ำดีที่สุดต้อง uplay365 เหมาะสำหรับทั้งนักพนันมืออาชีพและ มือใหม่ โดยทางเรามีพนักงานคอยสอนเรื่องการแทงบอลเบื้องต้น แทงง่าย อัตราจ่ายดี *สล็อตออนไลน์ ,เกมส์ยิงปลา : JOKER123,PLAYTECH และอื่นๆ อีกมากมาย ทั้งหมดนี้ สามารถเล่นได้ใน 1 ยูสเซอร์เท่านั้น สนใจสมัครสมาชิกรับเครดิตฟรี สามารถสมัครได้ตนเองที่หน้าเว็บ หรือติดต่อ Callcenter โดย ทางเรามีพนักงานไว้บริการและแก้ปัญหา ตลอด 24 ชั่วโมง สอบถามข้อมูลเพิ่มเติมได้กับแอดมินได้ตลอด 24 ชม.ค่ะ

    ALLBET Casino
    ALLBET

    ReplyDelete

@Viv Amazing Life

Follow Me